‘झारखंड टाइगर’ चंपई सोरेन बने झारखंड के 12वें मुख्यमंत्री

0
60
Jharkhand Tiger Champai Soren Bane jharkhand ke 12th Mukhyamantri

हेमंत सोरेन के इस्तीफे के बाद आज शुक्रवार को चंपई सोरेन ने 12वें मुख्यमंत्री पद की शपथ ली. उनके साथ ही आलमगीर आलम और सत्यानंद भोक्ता ने मंत्री पद की शपथ ली.

हेमंत सोरेन के इस्तीफे के तुरंत बाद से ही चंपई सोरेन सरकार बनाने के दावे कर रहे थे और इसके सम्बंध में वे झारखंड के राज्यपाल से भी गिरफ़्तारी के दिन हीं मिले, लेकिन राज्यपाल के तरफ से शपथ ग्रहण का न्योता मिलने में देरी हो रही थी क़रीब एक दिन तक झारखंड में कोई सरकार नहीं थी जिसके कारण JMM-RJD-Congress के नेताओं में सरकार बनने और विधायकों के टूटने की आशंका भी बढ़ रही थी.

हेमंत सोरेन के इस्तीफे के बाद से राज्य में मुख्यमंत्री न होने की वजह से भ्रम की स्थिति बन गई थी और इसके कारण राजनीतिक संकट गहरा गया था. परंतु झारखंड में महागथबँधन या INDIA अलाइयन्स ने बहुत सूझ-बुझ का प्रदर्शन किया और अपनी सरकार बचाने में फ़िलहाल सफल रहे, अब उम्मीद है कि चंपई सोरेन बहुमत साबित करने में भी सफल रहेंगे. मुख्यमंत्री के रूप में चंपई सोरेन के अलावा कांग्रेस-RJD के एक-एक विधायक ने भी ली शपथ.

उधर सुप्रीम कोर्ट से कोई राहत नहीं मिलने के कारण अब हेमंत सोरेन 5 दिन की रिमांड पर हिरासत में रहना होगा; इसी के साथ खबर ये भी है कि गठबंधन में किसी भी तरह के फूट से बचने के लिए झारखंड के 39 MLA को हैदराबाद भेजा जा रहा है. 5 फरवरी को बहुमत सिद्ध करने के दिन ही सभी विधायक एक साथ हैदराबाद से रांची पहुंचेंगे। इसके बाद 6 या 7 फरवरी को मंत्रिमंडल विस्तार की संभावना है.

झारखंड के नए मुख्यमंत्री के लिए शपथग्रहण से पहले चंपई सोरेन ने शिबू सोरेन से मुलाकात की. इसके बाद चंपई ने कहा कि गुरुजी हमारे आदर्श हैं, शपथ लेने से पहले हम गुरुजी और माताजी (रूपी सोरेन) से आशीर्वाद लेने आए थे. मैं झारखंड आंदोलन से जुड़ा था और मैं उनका शिष्य हूं.

सीएम के रूप में शपथ लेने के बाद चंपई सोरेन सबसे पहले भगवान बिरसा मुंडा और अन्य आंदोलनकारियों की प्रतिमा पर माल्यार्पण करने जाएंगे. इसके बाद सचिवालय पहुंच कर कामकाज संभालेंगे.

Jharkhand Tiger Champai Soren Bane jharkhand ke 12th Mukhyamantri