नीतीश कुमार ने सीतामढ़ी के लिए BJP से उधार लिया उम्मीदवार, JDU के वरुण कुमार का चुनाव लड़ने से इनकार

0
354
nitish-kumar-borrowed-loksabha-condidate-from-bjp-for-sitamarhi-IndiNews-online free hindi News-नीतीश कुमार ने सीतामढ़ी के लिए भाजपा से उधार लिया उम्मीदवार, डॉक्टर बरुन का चुनाव लरने से इनकार

राजग (NDA) में टिकट बँटवारे के बाद बिहार का सीतामढ़ी सीट नीतीश कुमार की पार्टी जनता दल यूनाइटेड (JDU) के हिस्से में आया था और पार्टी ने यहाँ से अपने उम्मीदवार की घोषणा भी कर दी थी; लेकिन, अब सीतामढ़ी से जदयू के उम्मीदवार डॉक्टर वरुण कुमार ने नामांकन दाख़िल करने के ठीक पहले अपना नाम वापस कर टिकट लौटा दिया है.

ये बताना मुश्किल है की वास्तव में किन परिस्थितियों में बरुन कुमार ने अपना नाम वापस लिया, लेकिन मीडिया में चल रहे ख़बरों के अनुसार वरुण कुमार को ना तो जनता दल यूनाइटेड का और न ही भाजपा का कोई नेता बहुत महत्व दे रहा था. वे इसलिए काफी परेशान थे. इसलिए उन्होंने नामांकन से पहले ही टिकट लौटा दिया. बता दें, सीतामढ़ी में 6 मई को मतदान हैं.

अब सीतामढ़ी से जेडीयू के टिकट पर भाजपा के नेता औ बिहार सरकार में मंत्री रहे सुनील कुमार पिंटू को टिकट दिया गया है. बता दें की पिछले दिनों सुनील कुमार पिंटू ने भाजपा का साथ छोर जेडीयू का दामन थमा था.

nitish-kumar-borrowed-loksabha-condidate-from-bjp-for-sitamarhi-IndiNews-online free hindi News-नीतीश कुमार ने सीतामढ़ी के लिए भाजपा से उधार लिया उम्मीदवार, डॉक्टर बरुन का चुनाव लरने से इनकार

सीतामढ़ी से एनडीए के नए लोकसभा उम्मीदवार सुनील कुमार पिंटू ने बताया कि जदयू से उम्मीदवार बनाने का ऑफर दिया था, जिसके बाद उन्होंने जदयू में शामिल होने का फैसला किया. पिंटू ने ये भी कहा की उन्होंने करीब डेढ़ दशक से बतौर विधायक और मंत्री सीतामढ़ी और इसके लोगों की सेवा की है.

बिहार के कुल 40 सीटों पर 7 चरणों में मतदान होना है जो इस प्रकार है:

11 अप्रैल: जमुई औरंगाबाद, गया, नवादा,
18 अप्रैल: बांका, किशनगंज, कटिहार, पूर्णिया, भागलपुर
23 अप्रैल: खगड़िया, झंझारपुर, सुपौल, अररिया, मधेपुरा,
29 अप्रैल: दरभंगा, उजियारपुर, समस्तीपुर, बेगूसराय, मुंगेर
6 मई: मधुबनी, मुजफ्फरपुर, सारन, हाजीपुर, सीतामढ़ी,
12 मई: पूर्वी चंपारण, पश्चिमी चंपारण, , शिवहर, वैशाली, गोपालगंज, सिवान, महाराजगंज, वाल्मीकिनगर
19 मई: नालंदा, पटना साहिब, पाटलिपुत्र, आरा, बक्सर, सासाराम, काराकट, जहानाबाद

देश के सभी लोकसभा सीटों पर मतगणना एक साथ 23 मई 2019 को होनी है. बिहार का परिणाम एनडीए खास कर भाजपा के लिए बहुत महत्वपूर्ण होने वाला है क्योंकि भाजपा ने पिछले चुनाव में अकेले अपने दम पर जीते हुए सीटों की क़ुर्बानी नीतीश कुमार से गठबंधन के लिए दी है.

पिछले लोकसभा चुनाव में जहाँ नीतीश कुमार की पार्टी को 40 में सिर्फ दो सीटों पर सफलता मिली थी वहीं भाजपा ने अकेले 22 सीटों पर जीत हासिल किया था; परंतु नीतीश कुमार से गठबंधन के लिए भाजपा ने अपनी जीती हुई सीटें घटाकर सिर्फ़ 17 संसदीय क्षेत्रों से चुनाव मैदान में है, वहीं जेडीयू पिछले चुनाव में 2 सीटें होने के ववजूद 17 सीटों पर चुनाव मैदान में है जबकि 6 सीट रामविलास पासवान की पार्टी लोक जनशक्ति पार्टी के हिस्से में गया है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here