मोबाइल की अड्रेस बुक में दिखे आधार का हेल्पलाइन नंबर तो डरने की जरूरत नहीं

0
155
मोबाइल की अड्रेस बुक में दिखे आधार का हेल्पलाइन नंबर तो डरने की जरूरत नहीं - IndiNews | इंडि न्यूज़
Image: IndiNews

पिछले कुछ दिन में आप सभी ने एक WhatsAap मेसेज सायद जरुर पढ़ा होगा जिसमें कहा गया होगा की आपका फ़ोन हैक करके एक नंबर आपके कॉन्टेक्ट (अड्रेस बुक) में ऐड किया गया है और उसके माध्यम से आपका अकाउंट डिटेल्स और भी बहुत कुछ किया जा सकता है | बहुत से लोगों ने तो इसके बाद UIDAI के सिक्यूरिटी पर ही सवाल खड़े कर दिए |

पर जब इसकी तहकीकात की गयी तो यह कुछ और ही निकला | ये मेसेज गलत है और सायद कुछ असामाजिक तत्त्वों की करामत से ज्यादा कुछ नहीं है |

इसके लिए गूगल ने एंड्राइड सिस्टम के अपडेट की गलती मन और क्षमा भी मांगी | वास्तव में हो ये रहा था की एंड्राइड के सिस्टम अपडेट के माध्यम से यह आपके कॉन्टेक्ट्स में सेव हो जा रहा था जो की आज कल आपके E-Mail अकाउंट से sync रहता है| इस तरह से वो आपके Gmail के कांटेक्ट में store हो गया था और फ़ोन के बदलने का बाद भी गूगल के कांटेक्ट से आपके फोन में सिंक होकर आ जा रहा था नए फोन लेने बाद भी |

मोबाइल की अड्रेस बुक में दिखे आधार का हेल्पलाइन नंबर तो डरने की जरूरत नहीं - IndiNews | इंडि न्यूज़
Image: Google India

और सोचने वाली बात ये भी है यदि किन्ही कारणों से आपके फ़ोनमें कोई नंबर ऐड हो भी जाता है तो उससे किसी भी प्रकार का कोई नुकसान नही पहुचाया जा सकता, क्योंकि एंड्राइड अब खुद अपने सिक्योरिटी सिस्टम को इतना मजबूत और विश्वसनीय बना लिया है की किसी भी मामूली समस्या का सामना खुद ही अच्छी तरह कर सकता है |

जहाँ तक बैंकों की बात है तो आपको पता होना चाहिए की आजकल एप्प और ऑनलाइन बैंकिंग के होने वाले इस्तेमाल को देखते हुए सभी बैंकों ने अपने सिस्टम को हर तरह मजबूत कर लिया है जो किसी भी हैकिंग जैसे समस्या का सामना अच्छे से कर सकता है, यही कारण है की बैंक खुद अपने ग्राहकों को एप्प और ऑनलाइन सम्बंधित प्रयोग करने के लिए प्रोत्साहित कर रही है | जब तक आप अपने PIN, OTP, पासवर्ड, और Username जैसे अन्य सभी गोपनीय जानकारियां सुरक्षित रखते हैं तब तक किसी प्रकार का कोई नुकसान पहुंचना नामुमकिन है |

अगर आप अपने फोन में बैंकों से सम्बंधित एप्प या किसी भी अन्य फाइनेंसियल एप्प जैसे की भीम, PhonePe, तेज इत्यादि का इस्तेमाल करते हैं तो सुनिश्चित करें की लॉगिन पिन किसी को पता नहीं हो और अगर आपके फोन में ऑप्शन है एप्प को लॉक करने का तो वो भी जरूर इनेबल रखें | किसी भी तरह की समस्या या कोई शंका होने पर अपने बैंक या बैंक के टोल फ्री नंबर पर तुरंत संपर्क करें और कभी भी किसी को भी अपना PIN, OTP या password नहीं बतायें चाहे वो बैंक का अधिकारी हिं क्यों ना हो |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here