महुआ मोइत्रा पर भाषण चोरी का आरोप लगाने वाले सुधीर चौधरी और जी न्यूज़ की खुली पोल

0
761
zee-news-and-sudhir-chaudhary-ka-mahua-moitra-fake-news-exposed

हमारे देश में राष्ट्रीय स्तर के न्यूज़ चैनल की हालत किसी से छुपी नहीं है, सभी को पता है की किस प्रकार से देश की बड़ी बड़ी न्यूज़ एजेन्सियाँ सरकार के इशारे पर सरकार के प्रवक्ता के तरह काम करती है. जिन पत्रकारों और न्यूज़ चैनलों को स्वाभिक रूप से सरकार से सवाल करनी चाहिए वही लोग सरकार के प्रवक्ता के तरह काम कर रहे हैं. अलग अलग न्यूज़ चैनलों के ऐंकर की बीच होड़ लगी है सरकार के प्रवक्ता बनने की.

ऐसे हीं एक न्यूज़ चैनल है Zee न्यूज़, सबको पता है किस बख़ूबी से जी न्यूज़ ने भाजपा और मोदी सरकार के प्रवक्ता का रोल निभाया है. Zee News के बारे में जिन्हें नहीं पता उन्हें जान लेना चाहिए की Zee News और Zee ग्रूप के सभी TV चैनल Essel Group का है जिसके संस्थापक हैं Dr सुभाष चंद्रा, ये वही सुभाष चंद्रा हैं जो हरियाणा से राज्यसभा में निर्दलीय MP हैं उन्होंने कांग्रेस समर्थित आर के आनंद को हराया था. चंद्रा ने चुनाव जितने का बाद ख़ुद बताया था कैसे भाजपा ने उनकी मदद की और सुभाष चंद्रा ने भाजपा को अपनी जीत के लिए दिल की गहरायी से धन्यवाद भी दिया था. जब चैनल के संस्थापक हीं राजनीतिक तौर पर BJP के साथ हों और भाजपा vs ऑल की बात कर रहे हों तो उनके चैनल की निष्पक्षता पर संदेह और सवाल वाजिब है. (Video Source: Zee News)

यही कारण है की Zee News और Zee ग्रूप के किसी भी चैनल पर आप मोदी सरकार के महिमामंडन वाली शो के अलवा शायद हीं कुछ और देख पाएँगे. Zee News पर हर शाम के शो आता है DNA जिसमें जी न्यूज़ के एडिटर सुधीर चौधरी अपने पसंद की प्रमुख ख़बरों को विस्तार से परोसते है.

सुधीर चौधरी का ये वही शो है जहाँ ख़ुद सुधीर चौधरी ने नोटबंदी के समय इसी DNA शो में ख़बर दिखाया था की मोदी सरकार द्वारा जारी नए 2000 के नोट में GPS tracker लगा है जिससे नए 2000 के नोट को ज़मीन के नीचे छुपाने पर भी सरकार ट्रैक कर सकती है. इस फ़ेक न्यूज़ के भंडाफोर होने के बाद कभी भी सुधीर चौधरी या Zee न्यूज़ ने अपने दर्शकों से माँफी नहीं माँगी. ये उदाहरण एक राष्ट्रीय न्यूज़ चैनल के फ़ेक न्यूज़ चलाने और सरकार के सामने नतमस्तक होने की पराकाष्ठा को दिखता है.

अभी हाल के दिनों में नवनिर्वाचित TMC सांसद महुआ मोइत्रा के भाषण के ख़ूब चर्चे हुए, नई लोकसभा के गठन के बाद अंग्रेजी में दिए मोइत्रा के 10 मिनट का भाषण सोशल मीडिया पर वाइरल हो गया और लोगों ने काफ़ी सराहा भी. महुआ मोइत्रा ने अपने भाषण में मोदी सरकार पर कई सवाल उठाए साथ हीं बताया की किस तरह से एक वक्ति कि कंट्रोल में लगभग पूरी मीडिया है, मोइत्रा के भाषण को मिल रही ख्याति को सत्तारूढ़ पार्टी और गोदी मीडिया पचा नहीं पा रही.

टीएमसी सांसद ने एनआरसी मुद्दे पर कहा ‘जो लोग पिछले 50 साल से इस देश में रह रहे हैं उन्हें अपनी नगारिकता साबित करने के लिए दस्तावेज दिखाने के लिए कहा जा रहा है. यहां मंत्री अपनी ग्रेजुएशन को साबित करने के लिए एक डिग्री तक नहीं दिखा सकते और आप आम लोगों से यह उम्मीद करते हैं कि वह अपनी नगारिकता को साबित करने वाला दस्तावेज आपके सामने रखें.’ महुआ मोइत्रा ने अपने भाषण में जिन सात बिंदुवों के माध्यम से देश में फासिवद की बात की वो वास्तव में US Holocaust Memorial के एक पोस्टर के माध्यम से कहा गया जिसे मार्टिन लॉंगमैन ने भी अपने लेख में लिखा था.

zee-news-and-sudhir-chaudhary-ka-mahua-moitra-fake-news-exposed-US Holocaust Museum-early warning signs of fascism

पैसे उगाही के आरोप में तिहार जेल की हवा खा चुके जी न्यूज़ के एडिटर सुधीर चौधरी ने 2000 के नोट में GPS tracker वाली बेतुकी और मूर्खतापूर्ण फ़ेक न्यूज़ चलने वाली अपनी रीसर्च टीम को लगा दिया TMC सांसद महुआ मोइत्रा के भाषण को बेबुनियाद साबित करने के लिए. चौधरी की टीम ने कही से अधूरी जानकारी जुटाई और DNA का पूरा एक एपिसोड शूट कर लिया. इसके बाद सुधीर चौधरी ने DNA शो में अपनी रीसर्च टीम की सराहना करते हुए महुआ मोइत्रा के भाषण को चोरी का बताया और दावा किया की DNA की टीम से अधिक कोई रीसर्च नहीं कर सकता, याद रहे ये वही टीम है जिसने 2000 के नए नोट में जीपीएस ट्रेकर लगने की बात कही थी, इस फ़ेक न्यूज़ से अनुमान लगाया जा सकता है की लॉजिक और जानकारी का कितना अभाव है DNA टीम के पास.

सुधीर चौधरी ने Zee News का एक पूरा DNA शो अपने इसी झूठी और अधूरी जानकारी पर कर दिया सिर्फ़ इसलिए की भाजपा और मोदी सरकार पर प्रहार करने वाली महिला सांसद के लोकप्रियता को झुठलाया जा सके. सुधीर चौधरी ने अपने शो में आरोप लगाया कि महुआ मोइत्रा ने अपने भाषण में एक अमेरिकी राजनीतिक कमेंटेटर मार्टिन लॉंगमैन के शब्दों की चोरी की है. जबकि दोनों ने उसी “Early Warning Sign of Fascism” पोस्टर के माध्यम से अपनी बात कही थी. मामला चर्चा में आने के बाद खुद अमेरिकी राजनीतिक कमेंटेटर मार्टिन लॉंगमैन सामने आए और महुआ पर लगे आरोपों को सिरे से खारिज कर दिया.

महुआ मोइत्रा ने भी अपनी प्रतिक्रिया में प्रेस रिलीज़ जारी कर सफाई दी है. मीडिया से बात करते हुए TMC सांसद ने मार्टिन लॉंगमैन के ट्वीट को पढ़ते हुए जी न्यूज़ के रिपोर्टर को कहा की मार्टिन लॉंगमैन ने आपके जैसे प्रेस के लिए लिखा है जिसके मालिक BJP राज्यसभा सांसद हैं, महुआ मोइत्रा उनपर लग रहे आरोपों को फ़ेक न्यूज़ बताया.

फ़ेक न्यूज़ का भंडाफोर करने के लिए प्रचलित पोर्टल AltNews और BoomLive ने भी इस ख़बर की परताल की और पाया की सुधीर चौधरी ने अपने शो में झूठा और फ़ेक न्यूज़ चलाया है. Zee News और सुधीर चौधरी महुआ मोइत्रा के छवि को ख़राब करने के चक्कर में वही कर बैठे जिसका दावा मोइत्रा अपने भाषण में सांसद के माध्यम से कर रही थी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here